Hinglishpedia

Tulsi ke gharelu nuskhe aur upay. Home Remedies of Holy Basil in Hindi.
तुलसी के पौधे को बहुत ही पवित्र पौधा माना जाता हैं और इसकी पूजा की जाती हैं। आज हम आपको तुलसी के कुछ उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें अजमा कर आपको निश्चित ही फायदा होगा।

तुलसी के पौधा घर में लगाने से कई बीमारियाँ घर में दाखिल नहीं हो पाती हैं। Tulsi ke gharel nuskhe aur upay ke baare mein jante hain. Home Remedies of Holy Basil in Hindi.

1. तुलसी के पत्तो का रस निकाल कर बराबर मात्रा में निम्बू का रस मिला कर रात को चेहरे पर लगाने से चेहरे की फुंसियां और झाईंयां ठीक हो जाते हैं और चेहरे पर निखार भी आता हैं।

2. माइग्रेन के उपचार के लिए भी तुलसी का उपयोग किया जाता हैं। रोजाना 4 से 5 बार तुलसी के 6-7 पत्ते चबाने से कुछ ही दिनों में माइग्रेन की समस्या दूर होने लगती हैं।

3. गर्मियों में घमौरियों के इलाज के लिए आप संतरे के छिलकों को छाँव में सुखा ले और इसे पीस पर इसका पाउडर बना ले। अब इस संतरे के पाउडर में थोड़ा गुलाबजल और तुलसी का पानी मिला कर शरीर पर लगाये। यह घमौरियो से आराम दिलाने में बहुत ही कारगर उपाय हैं।

4. शिवलिंगी के बीजो को तुलसी और गुड़ के साथ पीस कर नि:संतान स्त्री को खिलाने से महिला को जल्द ही संतान सुख की प्राप्ति हो जाती हैं।

5. तुलसी के पौधे को थकान दूर करने वाला माना गया हैं। बहुत ज्यादा थकान होने पर तुलसी के पत्ते को मंजरी के साथ मिला कर खाने से थकान दूर हो जाती हैं।

6. किडनी स्टोन होने पर तुलसी की पत्तियों को उबाल कर काढ़ा बनाये और इस काढ़े को शहद के साथ 6 महीने तक पीने से किडनी की पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकाल जाती हैं।

7. पानी को शुद्ध बनाने के लिए तुलसी के पत्ते को एक डेढ़ घंटे तक जल पात्र में डाल दे। अब कपड़े से इस पानी को छान ले और इसे पिए। इससे पानी की अशुद्धियाँ दूर हो जाती हैं।

8. तुलसी में थाईमोल पाया जाता हैं, जिस वजह से स्किन से सम्बंधित बीमारियों में लाभकारी होती हैं। तुलसी के पत्तो को त्वचा पर रगड़ने से स्किन पर किसी भी तरह के इन्फेक्शन में आराम मिलता हैं।

9. फ्लू में तुलसी के पत्तो का काढ़ा, सेंधा नमक के साथ पीने से फायदा होता हैं। हर्बल जानकार फ्लू के दौरान बुखार से पीड़ित मरीज़ को तुलसी और सेंधा नमक को एक साथ लेने की सलाह देते हैं।

10. तुलसी ब्लड में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कण्ट्रोल करने का काम करती हैं। जिन लोगो को पहले कभी हार्ट अटैक हुआ हो, उनको तुलसी के रस का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। तुलसी और हल्दी के पानी को पीने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल कण्ट्रोल में रहता हैं और इससे कोई भी स्वस्थ्य व्यक्ति पी सकता हैं।
loading...


 
Top