Related Posts


बवासीर यानि पाइल्स को दूर करने वाले उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

बवासीर दूर करने वाले घरेलु नुस्खे और उपाय, Home Remedies for treatment of Piles in Hindi.


आज के लेख में हम बवासीर यानि पाइल्स से आराम दिलाने वाले उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय आदि के बारे में आपको बताएँगे। Home Remedies for Piles Treatment in Hindi.

आखिर क्यों होती हैं बवासीर की बीमारी?

ज्यादा तैलीय और मसालेदार भोजन करने से पाचन तंत्र में खराबी आ जाती हैं। ख़राब पाचन तंत्र होने पर कब्ज़ की समस्या पैदा होती हैं, जिससे सुबह के समय शौच के समय ज्यादा जोर लगाना पड़ता हैं। जिससे आस-पास की त्वचा छिल जाती हैं और इन जगहों पर मस्से निकल जाते हैं, जो की काफी ज्यादा दर्दनाक होते हैं। इन मस्सों से खून भी निकलता हैं। इन्हें दूर करने के डाइट में ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थो को लेना चाहिए। साथ ही फाइबर से भरपूर चीजों को खाना चाहिए।

पेट की बीमारियो का सीधा सम्बन्ध गलत खानपान से माना गया हैं। भोजन में ज्यादा तेल और मसालों के इस्तेमाल से, रात के समय देर में भोजन करने से, खाना खाने के बाद पानी न पीना, यह सभी आदतें गंभीर बीमारियाँ होने की वजह बन जाती हैं। एसिडिटी, गैस, कब्ज़ और बवासीर ऐसी ही दर्दनाक और खतरनाक बीमारियाँ हैं।

आज दुनियाभर के ज्यादातर लोग बवासीर से परेशान हैं। बवासीर के ज्यादातर मरीज़ विदेशों में ज्यादा हैं। वैसे तो बवासीर को ख़त्म करने के लिए मेडिसिन से लेकर ऑपरेशन तक मौजूद हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की कुछ घरेलु नुस्खे और उपाय को अजमा कर बवासीर का इलाज किया जा सकता हैं। आइये जानते हैं इन असरदार और आसान घरेलु नुस्खे और उपायों के बारे में, जिनके इस्तेमाल से बवासीर से छुटकारा पाया जा सकता हैं।

बवासीर से राहत दिलाने वाले उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय :-

1. निम्बू :- निम्बू के रस को दूध में मिला कर पीने से बवासीर में काफी ज्यादा लाभ मिलता हैं। साथ ही इसमें ग्लिसरीन मिला कर कॉटन पर लगाकर बवासीर के मस्सों पर लगाना चाहिए। लेकिन निम्बू के रस को दूध में मिला कर पीने से पहले इस बात का ध्यान रखे की दूध के फटने से पहले ही आपको दूध पी लेना हैं। मतलब यह की जब आप दूध में निम्बू का रस डाले तो बिना देर किये इसे तुरंत पी जाये, नहीं तो दूध फट जायेगा और आपको लाभ होने की बजाये नुकसान ही होगा।

2. अजवाइन :- अजवाइन का इस्तेमाल कई सारी बिमारियों को दूर करने के लिए किया जाता हैं। अजवाइन को बारीक पीस ले और इसमें सेंधा नमक मिला ले और इसे दही या छाछ में मिला कर लीजिये। दही जहाँ पेट को ठंडक देती हैं और पाचन तंत्र को दुरुस्त बनाता हैं तो दूसरी ओर अजवाइन बवासीर को ख़त्म करने का काम करती हैं।

3. आंवला :- आंवले को सूखा ले और इसे अच्छी तरह पीस कर पाउडर बना ले। या फिर बाज़ार से बना बनाया आंवले का पाउडर ले आइये और इस आंवले के चूर्ण को दूध, दही या छाछ में मिला कर सेवन करे। यह बवासीर से राहत पाने के बहुत ही कारगर तरीका हैं।

4. कलोंजी :- कलोंजी का इस्तेमाल रसोई में मसाले के रूप में ज्यादातर किया जाता हैं। इसके अलावा कलौंजी बवासीर को ख़त्म करने का बहुत ही कारगर इलाज भी माना गया हैं। इसके लिए कलौंजी को पीस कर पानी के साथ मिला कर पेस्ट बनाये और इसे बवासीर के मस्सों वाली जगह पर लगाये।

5. अनार :- अनार को खाने से लेकर इसका जूस पीना दोनों ही बवासीर की समस्या में काफी ज्यादा फायदेमंद हैं। इसके अलावा अनार के छिलके को सूखा कर उसका पाउडर बना ले और इस पाउडर को दही के साथ मिला कर खाए। इससे बवासीर की समस्या को दूर करने में काफी ज्यादा मदद मिलती हैं।

6. मिट्टी का तेल :- बवासीर की समस्या को ख़त्म करने के लिए मिट्टी का तेल भी अच्छा उपाय हैं। सुबह मलत्याग के बाद आधे मग पानी में लगभग एक चम्मच मिट्टी का तेल मिलाये और उससे बवासीर वाली जगह पर धोये।

7. मूली :- मूली का रस पीने से बवासीर की समस्या में बहुत ज्यादा फायदा होता हैं। मूली के छोटे छोटे टुकड़े काटे और इस पर नमक लगा कर इसे घी में तलकर खाए। इससे बवासीर की समस्या को जल्दी ख़त्म करने में मदद मिलती हैं। आप चाहे तो मूली की सब्जी भी बना कर खा सकते हैं। मूली के पत्तियों को सूखा कर इसे पीसकर इसका भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

8. हरी पत्तेदार सब्जियां :- हरी साग और हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने से बवासीर में आराम मिलता हैं। सब्जियों को खाने के अलावा आप इनका सूप बना कर भी पी सकते हैं। यह भी बवासीर से छुटकारा पाने का काफी आसान तरीका हैं।

9. भूना हुआ चना :- काले चने और भूने हुए चनों को खा कर ज्यादातर बिमारियों में आराम पाया जा सकता हैं। क्योंकि चने में फाइबर ज्यादा मात्रा में होता हैं जो शरीर में पानी की मात्रा को बनाये रखता हैं, जिससे पाचन तंत्र सही तरह से काम करता हैं।

10. प्याज : प्याज के पीस कर इसका रस निकाल ले और इसमें थोड़ा सा घी और चीनी मिला कर दिन में दो से तीन बार इस्तेमाल करे।

11. अमरुद :- पाचन क्रिया को दुरुस्त बनाने और बवासीर को दूर करने के लिए अमरुद का सेवन करे। अमरुद को खाने से बवासीर की समस्या में काफी ज्यादा आराम मिलता हैं।

12. चाय की पत्तियां :- चाय की पत्तियों को ग्राइंडर में पीस ले और पाउडर बना ले। इस पाउडर को हल्का सा तवे पर गर्म करे और एक से दो बूँद पानी मिला कर बवासीर के मस्सों पर लगाये। इससे बवासीर के मस्से धीरे-धीरे करके सूखने लगेंगे।

13. पपीते का दूध :- पपीते के सेवन से जहा पाचन क्रिया दुरुस्त बनती हैं, वहीँ इससे निकलने वाला दूध मस्सों पर लगाने से बवासीर से बहुत जल्दी छुटकारा मिलता हैं। पपीते के दूध को मस्सों पर 15 से 20 तक लगाये, आपको फर्क दिखाई देने लगेगा।

14. चुकंदर :- चुकन्दर को आप चाहे सलाद के रूप में खाए या फिर इसका जूस निकाल कर पीजिये। दोनों ही तरह से यह बवासीर में फायदेमंद हैं। यह शरीर में खून की कमी को दूर करता हैं और साथ ही बवासीर से राहत दिलाता हैं। रोजाना इसके इस्तेमाल से बवासीर के मस्से धीरे-धीरे करके ख़त्म होने लगते हैं।

15. जीरा :- पानी में सौंफ, जीरा और धनिया पाउडर डाल कर 15 से 20 तक उबाले। फिर इस पानी को छान कर पीजिये। आप चाहे तो इस जीरे, धनिये और सौंफ वाले पानी में स्वादानुसार नमक और घी भी मिला सकते हैं।

16. लीची :- बवासीर के मरीजों को लीची जरूर खानी चाहिए। वैसे भी ज्यादा रसीले फलों को खाने से शरीर में पानी की मात्रा बरकरार रहती हैं। जिससे पाचन क्रिया को लाभ मिलता हैं।

17. मेहँदी :- मेहँदी के पत्तियों के इस्तेमाल से बवासीर का इलाज किया जा सकता हैं। इसके लिए मेहँदी के पत्तों को पानी के साथ मिला कर पीस ले और पेस्ट बना ले। इस पेस्ट को बवासीर के मस्सों पर लगाये। जिससे मस्सें सूख कर बहुत ही जल्दी झड़ जायेंगे।

18. लौकी के छिलके :- लौकी की सब्जी बनाते समय इसके छिलको को कूड़े में न फेंके। बल्कि इन्हें सूखा कर पीस ले। खूनी बवासीर होने पर रोजाना दिन में 2 बार इस लौकी के छिलके वाले पाउडर को खाए और इसके सेवन के बाद ठंडा पानी पीजिये।

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.